घुटने में पानी भरने का कारण क्या है ? और इसका आसान इलाज़ क्या है?

घुटने में पानी भरने का कारण– नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप सब ? आज हम इस आर्टिकल में बात करने वाले हैं एक ऐसी समस्या के बारे में जो दिन-प्रतिदिन न केवल बुजुर्गों में बल्कि जवान लोगों में भी काफी देखने को मिल रही है। और यह समस्या है घुटनों में सूजन जिसे घुटनों में पानी भरने के नाम से भी जाना जाता है।

आज हम घुटने में पानी भरने का कारण या फिर इसमें सूजन आने का क्या कारण है इस विषय पर बात करेंगे। और यह भी जानेंगे की यह समस्या कितनी गंभीर है ? और अंत में घुटने में पानी भरने के होम्योपैथिक और आयुर्वेदिक इलाज़ पर भी बात करेंगे।

घुटने में पानी भरने का कारण:

हर व्यक्ति को अपनी ज़िन्दगी में एक न एक बार इस समस्या का सामना करना पड़ता है और यह समस्या काफी तकलीफ देने वाली भी होती है। किसी भी समस्या का समाधान करने के लिए सबसे पहले उसके कारण जानना बहोत जरुरी है।। उसी प्रकार घुटने में पानी भरने का कारण जानना भी हमारे लिए बहोत जरुरी है।

मुख्या रूप से घुटने में पानी भरना या सूजन आना चार कारणों की वजह से होता है।

  1. ऑस्टिआर्थराइटिस के कारण।
  2. Rheumatoid आर्थराइटिस के कारण ।
  3. गाउट की समस्या के कारण ।
  4. घुटने में कोई चोट लगने की वजह से।

1. ऑस्टिआर्थराइटिस की वजह से घुटने में पानी भर जाना :

घुटने में पानी भर जाने का सबसे मुख्य कारण जो भारत में देखा जाता है वह है, ऑस्टिओआर्थरिटिस । आसान शब्दों में इसका अर्थ है घुटने का घिस जाना। जिसे आम भाषा में घुटने का घिसारा भी कहा जाता है।

यह समस्या आम तौर पर बड़ी उम्र के लोगों (50 से 70 वर्ष वालों ) में और पर्याप्त से अधिक वजन वाले लोगों में देखने को ज्यादा मिलती है। लेकिन वर्तमान समय में सही खान पान न होने की वजह से कम उम्र के लोगों में भी यह समस्या देखने को मिल रही है।

ऑस्टि ओ आर्थरिटिस होने के मुख्या कारण हैं मोटापा, डाइट में विटामिन डी और कैल्शियम की कमी और घुटने पर अत्यधिक भार पड़ना।

इलाज़:

इस समस्या से आप अपना वजन कम करके निजात पा सकते हैं। वजन कम करने के लिए आप कार्बोहाइड्रेट्स वाले खाद्य पदार्थों की मात्रा कम कर सकते हैं।

उदाहरण के लिए आप गेहू, चावल और चीनीकी मात्रा कम करके हाई फाइबर वाले फ्रुइट्स डाइट में शामिल कर सकते हैं। और आप विटामिन डी और कैल्शियम को भी अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं।

यदि आप चार से पांच किलो भी अपना वजन कम कर लेते हैं तो आपको इस समस्या से छुटकारा मिल जायेगा। इसके साथ ही आप विभिन्न प्रकार के घुटने से सम्बंधित व्यायाम भी कर सकते हैं।

चलिए अब घुटने में पानी भरने के दूसरे कारण को भी जान लेते हैं।

यह भी देखें: घुटनों को मजबूत बनाएंगे ये 5 एक्सरसाइज, मिलेगा दर्द से छुटकारा

2. Rheumatoid आर्थराइटिस/गठिया:

Rheumatoid Arthritis एक ऐसी समस्या है जिसमें शरीर की इम्युनिटी स्वस्थ कोशिकाओं को नुकसान पहुंचने लगती है। और इस समस्या के दौरान शरीर के विभिन्न हिस्सों जैसे की घुटनों, हाथों के जॉइंट्स, कंधो या कोहनियों पर सूजन आने लगती है।

यह समस्या थोड़ी विचित्र है । क्यूंकि इसमें आराम करने के दौरान सूजन बढ़ जाती है और काम करने के दौरान सूजन कम हो जाती है। सुबह के वक़्त सबसे ज्यादा सूजन देखने को मिलती है। सूजन के साथ साथ आपके घुटनों में अकड़न रह सकती है जिससे की आपको घुटनों को मोड़ने में तकलीफ हो सकती है।

इस समस्या के अंतर्गत केवल सूजन ही नहीं बल्कि मुंह और आँखों का सूखना, कम भूख लगना, हल्का बुखार जैसे लक्षण भी शामिल हैं। यह समस्या पुरुषों की तुलना में महिलाओं में अधिक होती है और ज्यादातर 30 से 50 वर्ष की उम्र की महिलाओं में यह सबसे ज्यादा देखी गयी है।

इलाज़:

इस प्रकार की समस्या से निजात पाने के लिए एक्सपर्ट्स ज्यादा से ज्यादा एक्सरसाइज करने की सलाह देते हैं या फिर आप एरोबिक्स भी कर सकते हैं। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए काफी सारी दवाएं भी उपलब्ध हैं जिन्हे आप अपने डॉक्टर से सलाह करके ले सकते हैं।

3. गाउट की समस्या के कारण घुटनों में पानी भरना या सूजन आना:

गाउट बीमारी के कारण भी आपके घुटने में पानी भरने या सूजन आने की समस्या पैदा हो सकती है।

गाउट की समस्या तब उत्पन्न होती है जब रक्त में यूरिक एसिड ज्यादा हो जाता है। और खासतौर पर धूम्रपान या नशीले पदार्थों का सेवन करने वालों में यह समस्या ज्यादा देखी गयी है।

कई एक्सपर्ट्स के अनुसार शरीर में प्रोटीन की मात्रा बढ़ जाने पर भी गाउट की समस्या पैदा हो सकती है जो की घुटनों के लिए काफी तकलीफ देने वाली होती है।

इस बीमारी के अंतर्गत केवल आपके घुटनों में ही नहीं बल्कि घुटनों के साथ साथ पैरों के पंजों में भी सूजन आती है। महिलाओं की तुलना में पुरुषों में गाउट की समस्या अधिक देखी गयी है।

इस तकलीफ में आपको घुटनें के टखने में सूजन आती है या पानी भर जाता है ना की अंदर की तरफ। इस वजह से आपको अपने घुटनों को मोड़ने में कोई समस्या नहीं आती।

दोस्तों यह तीन मुख्य कारण है जो आपके घुटने में पानी भरने या सूजन आने की समस्या पैदा कर सकते हैं।

इलाज़:

इस समस्या में चूँकि आपके घुटने में सिस्ट बन जाता है या फिर कोई छोटा ट्यूमर हो जाता है। इसलिए डॉक्टर्स एमआरआई करवाने की सलाह देते हैं। और ज्यादातर arthroscopic सर्जरी द्वारा इस प्रकार की समस्या को ठीक किया जाता है। यदि आपको लम्बे समय से घुटने में सूजन और दर्द है तो आपको एमआरआई जरूर करवा लेना चाहिए।

अब हम चौथे और अंतिम कारण की तरफ चलते हैं जिसमें चोट लगने की वजह से आपके घुटने में पानी भर जाता है।

4. घुटने में कोई चोट लगने की वजह से :

यदि आपके घुटने में किसी भी कारणवश चोट लग जाती है तो उससे भी आपके घुटने में पानी भरने या फिर सूजन आने की समस्या हो सकती है।

दो प्रकार की चोटों से आपके घुटने में सूजन आ सकती है।। पहला जब आपको कोई बड़ी चोट लगी हो जैसे कोई एक्सीडेंट या फिर पैर फिसल जाने से घुटने में चोट लगने पर। दूसरा यदि आपको बार-बार छोटी छोटी चोटें घुटने में लगती रहती हैं तो उससे भी यह समस्या हो सकती है।

आप जरूर सोच रहे होंगे की चोट लगने पर घुटने में पानी क्यों भर जाता है या सूजन क्यों आजाती है ?

घुटने का लिंगामेंट फटने की वजह से:

हमारे घुटने में कुल चार लिगामेंट होते हैं और चोट लगने पर यदि लिगामेंट फट जाता है तो आपके घुटने में सूजन और लचक की समस्या आ जाती है।

लिगामेंट इंजरी के कई स्टेजेस होते हैं। ऐसे में डॉक्टर्स एमआरआई करवाकर डिटेक्ट करते हैं की इंजरी किस स्टेज पर है। यदि आपको अर्ली स्टेज इंजरी है तो उसे एक्ससरसाइज और फिसिओथेरेपी से ठीक किया जाता है। यदि लिगामेंट में इंजरी ज्यादा है तो डॉक्टर्स लिगामेंट रीकंस्ट्रक्शन सर्जरी की सलाह देते हैं जो की दूरबीन की मदद से की जाती है और काफी अच्छा रिजल्ट देती है।

घुटने की गाधी डैमेज होने से :

हमारे घुटने में दो गाधी होती है जो बिलकुल एक गाडी के शॉकर की तरह काम करती है। यह दोनों गाधियाँ हमारे घुटने पर पड़ने वाले प्रेशर को झेलती हैं।

और चोट लगने पर यदि एक भी गाधी डैमेज हो जाती है तो भी आपको घुटने में सूजन या फिर पानी भरने की समस्या हो सकती है। घुटने की गाधी डैमेज होने के कारण घुटना आप मूव नहीं कर पाते और एक ही जगह पर आपका घुटना जाम हो जाता है।

इस समस्या में भी डॉक्टर्स एमआरआई करवाने की सलाह देते हैं और अर्ली स्टेज की इंजरी को फैसिओथेरेपी और विभिन्न एक्ससरसीसेस से ठीक किया जा सकता है।

घुटने के कार्टिलेज में इंजरी से:

कई बार घुटने में चोट लगने पर आपके घुटने की कार्टिलेज (घुटने की ऊपरी सतह) पूरी तरह से उखड जाती है या उसका कुछ हिस्सा टूट कर आपके घुटने में रह जाता है। इसे घुटने की कार्टिलेज इंजरी कहा जाता है। कार्टिलेज इंजरी की वजह से भी आपके घुटने में सूजन या पानी भरने की समस्या हो सकती है।

इस प्रकार की समस्या से निजात भी arthroscopic सर्जरी द्वारा पायी जा सकती है जिसे दूरबीन पद्दति भी कहते हैं।

निष्कर्ष:

दोस्तों हम उम्मीद करते हैं की अब आपको घुटने में पानी भरने का कारण समझ आ गया होगा।

यदि हम संक्षेप में इस आर्टिकल को समझें तो घुटने में पानी भरने या सूजन आने के पीछे ऑस्टिआर्थराइटिस, Rheumatoid आर्थराइटिस, गाउट और घुटने में चोट मुख्या कारण होते हैं।

यदि आपको घुटने में पानी भरने या फिर सूजन आने की समस्या है तो सबसे पहले तुरंत आप एमआरआई करवाएं और मालूम करें की इंजरी की स्टेज क्या है।

यदि यह समस्या अर्ली स्टेज पर है तो इसे फिजियोथेरेपी या फिर घुटने के व्यायाम की मदद से ठीक किया जा सकता है। और यदि इंजरी बहोत ज्यादा बढ़ चुकी है तो डॉक्टर्स arthroscopic सर्जरी करवाने की सलाह देते हैं।

हम उम्मीद करते हैं हमारे द्वारा दी गयी जानकारी आपको पसंद आयी होगी। और यदि आप हमसे कोई भी सवाल पूछना चाहते हैं तो हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं।

धन्यवाद

यह भी पढ़ें : Dr. Ortho Oil Benefits in Hindi with Uses 2022- क्या यह वास्तव में काम करता है ?

Leave a Comment